What happens when fate is against you

रहिमन असमय के परे, हित अनहित ह्वै जाय.
बधिक बधै मृग बान सों, रूधिरै देत बताय.

हिन्दी  अनुवाद:

जब समय ख़राब आता है, तब स्वयं के हित की बात भी हमारा ही अहित कर देती है. बुरे समय में अपने ही शत्रु बन जाते हैं, भलाई भी बुराई में बदल जाती है. शिकारी के तीर से घायल होकर हिरण जान बचाने के लिये जंगल में छिप जाता है,पर उसके खून की बूंदें उसके छुपने के स्थान तक पहुँचा देतीं हैं. समय पर मित्र, शत्रु और अपना, पराया हो जाता है.

English Phonetics:

Rahiman asamay ke pare, hit anhit hai jaay.
Badhik badhey mrig baan soun, rudhirey det batay.

English Meaning:

When our fate is adverse, then the matter of self-interest also can hurt us. In bad times our friends become our enemies; goodness also turns into evil.
Wounded by the hunter’s arrow, the deer hides in the forest to save his life, but his blood drops lead to his hiding place. At the nick of time, friends become enemies, and close ones become alien.

शब्द अर्थ:

असमय = विपरीत समय. बधिक = शिकारी. बधै = वध हुआ / घायल हुआ. मृग = हिरण. बान = बाण. रूधिरै = रुधिर/ रक्त/ खून.